Sunday, September 14, 2008

विभु जीजी को chicken-pox



विभु जीजी को chicken-pox हो रहा है और वो सो रही है इसलिए आज तो मेरा राज है यहाँ ब्लॉग पर। मम्मा मुझे जीजी के साथ खेलने से रोकती है, कहती है,"जीजी बीमार है, उन्हें आराम करने दे ", पर जीजी तो मुझे आवाज दे कर बुला लेती है। मैं भी उनके पास खेलता रहता हूँ, क्या करूँ , मुझे अकेले अच्छा भी नहीं लगता ना। नानीमाँने कहा है विभु जीजी को हवा मत लगने देना और उनको नमक, चिकनाई, खटाई मत देना। जीजी के तो मजे हैं, उनको खाना खाना वैसे भी अच्छा नहीं लगता, अब तो अच्छा बहाना मिल गया नहीं खाने का। वैसे सच्ची बात बताऊँ, जीजी अभी बहुत खुश है। पता है क्यों? क्योंकि मम्मा अभी तीन-चार दिन से ऑफिस नहीं जा रहे हैं। मम्मा जब पापा को कह रहे थे कि वो one week की छुट्टी ले रहे हैं तो जीजी बोली, "मम्मा, आप १०० weeks की छुट्टी ले कर आओ"। मम्मा जब घर पर रहती है तो हमें बहुत अच्छा लगता है। जीजी तो हमेशा कहती है, " मम्मा आप रोज-रोज घर ही रहा करो। हम स्कूल जाएँ तो हमारा घर पर इंतजार किया करो"। पर मम्मा हमेशा बस प्यारा कर देती है और फिर रोज-रोज ऑफिस चली जाती है। पता नहीं मम्मा के ऑफिस में खूब सारी छुटियाँ कब होंगी।

3 comments:

आदित्य said...

अपना ध्यान रखना. और मम्मी की बात मानना.. जल्दी से ठीक होकर दिल्ली आना..

आदि

रंजन said...

beta.. how are you now? all well

Emma said...

You write very well.