Sunday, October 18, 2009

थोड़ी लड़ाई.... थोड़ा प्यार ......



आप सभी को दिवाली की शुभकामनाएँ। हमने तो दिवाली पर खूब मज़े किए, खूब पटाखे छोड़े ........ पूजा के बाद जब मम्मा फोटो खीचनें लगे तो थोडी लड़ाई भी की .....लड़ाई इस बात की कि पहले फोटो किसका खिंचा जाए ....अकेले-अकेले का ....या ...साथ -साथ में .... मुझे पहले अकेले की फोटो खिंचानी थी पर जीजी मान ही नहीं रही थी ...जिद कर रही थी कि पहले हमारी साथ में खींचो .....अब यह भला क्या बात हुई ....जीजी की भी तो एक अकेले फोटो खींची थी पूजा के दीयों के साथ .....जीजी कहने लगी अकेले खींचनी है तो भैया की भी ( यानि मेरी ) दीयों के साथ खींचो, दूसरी जगह फोटो लेओगे तो मैं भी साथ खड़ी रहूंगी......अब, मेरी मर्जी होगी वहीँ तो मैं अपनी फोटो खिंचवाऊंगा ना ......तो बस हो गई लड़ाई शुरू .....


जीजी तो खूब रोई भी, बड़ी मुश्किल से मम्मा के बहुत समझाने पर हम माने ......अब जब मान ही गए थे तो बड़े प्यार से हाथ पकड़ कर फोटो खिंचाया .......


जीजी ने अकेले खड़े रह कर फोटो खिंचवाई तो मैं क्यों पीछे रहूँ .......


मैं बैठ कर .....तो जीजी भी बैठ कर ... बस ऐसे ही चलता रहा...







No comments: